अतीत के वो पल by Vinay Kr. Pandey

Vinay kumar pandey

Screenshot_2021-06-24-21-57-37-73.jpg

अधिकांश के …
उनके सबसे खुशमय पल
अपनों के साथ बिताए,
उनके अतीत होते हैं..

ऐसे लोगों का ‘आज’,
उन्ही अपनों के साथ
उनके अतीत से खुशमय नहीं होता…

क्योंकि…. वक्त के साथ
अपनों ने अपने व्यवहार बदल लिए हैं
इसलिए बीतें सुखद उन पलों की
फिर कभी पुनरावृत्ति नहीं होती…

You can follow him on Instagram @kavi_nay_ . Kindly, support him to to show your love and affection 🙏🏻

4 thoughts on “अतीत के वो पल by Vinay Kr. Pandey”

  1. बहुत प्रेरणादायी कविता है ये अतीत का पल 👌🌷जी हाँ , कुछ बीते हुए पल हमारी ज़िन्दगी में वास कर
    हमें कभी कभी याद दिलाते हुए आनंद करते है 👍🏻🌹अतीत नहीं हम नहीं ।बहुत बधाइयाँ 🙏🌹

    1. धन्यवाद । खुशी हुई जानकर की विनय कुमार ध्वारा लिखी कविता आपको पसंद आई। 🙏🏻

Leave a Reply